KISSAN MELA AT PANTNAGAR October 2018

01/10/2018 - 01/03/2019
PantNagar

रूद्रपुर/पंतनगर 05 अक्टूबर-पंतनगर विश्वविद्यालय में आज गांधी मैदान में विश्वविद्यालय के 104वें किसान मेले का उद्घाटन हुआ। विश्वविद्यालय के कुलपति एवं कुमाऊँ मंडल के आयुक्त, श्री राजीव रौतेला आईएएस, ने फीता काटकर मेले का उद्घाटन किया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के निदेशक प्रसार शिक्षा, डा. वाई.पी.एस. डबास; जिलाधिकारी ऊधमसिंह नगर डा. नीरज खैरवाल; वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. सदानंद दाते, मुख्य विकास अधिकारी आलोक कुमार पाण्डेय, विश्वविद्यालय की प्रबंध परिषद के सदस्य, श्री राजेन्द्र पाल सिंह के अतिरिक्त अन्य गणमान्य अतिथि एवं वैज्ञानिक उपस्थित थे। उद्घाटन के बाद श्री रौतेला ने मेला प्रांगण में लगी उद्यान प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इसके बाद डा. डबास ने कुलपति श्री राजीव रौतेला को खुली जीप में बैठाकर मेला प्रांगण का भ्रमण कराया। मुख्य उद्घाटन समारोह गांधी हाल सभागार में आयोजित किया गया।
उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि श्री राजीव रौतेला ने सभी का स्वागत करते हुए कहा कि पंतनगर विश्वविद्यालय पिछले लगभग 6 दशक में अपनी पहचान कायम कर चुका है। इसके द्वारा आयोजित किया जाने वाला किसान मेला कृषि गतिविधियों के लिए छोटे कुंभ के समान है, जिससे छोटे-बडे सभी किसान लाभान्वित हो सकते हैं। इस प्रसिद्ध किसान मेले में बीज, उर्वरक, कृषि यंत्र, रसायन, खेती की विधि, कृषि क्रियायें इत्यादि की जानकारी विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों, राज्य एवं केन्द्र सरकार के विभागों तथा निजी फर्मों के द्वारा लगाये गये स्टालों पर उपलब्ध करायी जाती है। श्री रौतेला ने वैज्ञानिकों द्वारा शोध से जनित तकनीकों व जानकारियों को किसानों तक पहुंचाने के लिए किसान मेले को उचित समागम स्थल बताया, जिससे ये तकनीकें सीधे एवं त्वरित गति से खेतों तक पहुंच पायेंगी। उन्होंने किसानों से कहा कि वे मेले में अधिक समय व्यतीत कर यहां उपलब्ध जानकारी को ग्रहण करें तथा इसका सदुपयोग करें। उन्होंने विश्वविद्यालय के अधिकारियों से किसान मेले को और अधिक व्यवस्थित ढंग से प्रस्तुत करने की सलाह दी तथा किसानों की रूचि के अनुसार स्टालों का प्रबंधन एवं प्रदर्शन करने का सुझाव दिया ताकि किसान अपनी रूचि से संबंधित स्टालों पर ही पहुंचे एवं जानकारी प्राप्त करने में उन्हें समय न गंवाना पड़े।
जिलाधिकारी डा. नीरज खैरवाल ने इस अवसर पर बोलते हुए कहा कि पंतनगर विश्वविद्यालय की साख का इस किसान मेले से पता चलता है। यहां पर तराई के साथ-साथ देश के विभिन्न प्रदेशों के किसान दूर-दूर से आते है एवं ज्ञान प्राप्त करते है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड बीज एवं तराई विकास निगम के बीज भी देश के विभिन्न प्रदेशों में पंतनगर के नाम के कारण ही बिकते है। पूरे देश की कृषि को दिशा देने के साथ-साथ यह एक अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का विश्वविद्यालय है। डा. खैरवाल ने विश्वविद्यालय के सहयोग से ऊधमसिंह नगर जिले में एक स्मार्ट ग्राम विकसित करने का भी सुझाव दिया, जिससे जिले के साथ-साथ पूरे प्रदेश के किसान लाभान्वित हो सकेंगे।
उद्घाटन सत्र के प्रारम्भ में निदेशक प्रसार शिक्षा डा. डबास ने सभी आगन्तुकों का स्वागत किया एवं मेले के विषय में जानकारी दी। कार्यक्रम के अंत में विश्वविद्यालय के निदेशक शोध, डा. एस.एन. तिवारी ने धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया। गांधी हाल में बड़ी संख्या में किसान, विद्यार्थी, वैज्ञानिक, शिक्षक, जिला प्रशासन के अधिकारी एवं अन्य आगंतुक उपस्थित थे। इस अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा विभिन्न कृषि साहित्यों का विमोचन किया गया तथा प्रदेश के विभिन्न जनपदों के प्रगतिशील किसानों को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि श्री रौतेला को शाल ओढ़ाकर एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर गांधी हाल में कुलपति श्री राजीव रौतेला ने खेती में अभिनव प्रयोग करने और उल्लेखनीय सफलता के लिए राज्य के विभिन्न जनपदों से चुने गये 09 प्रगतिशील कृषकों को प्रतीक चिन्ह व प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया। सम्मानित होने वाले किसानों में श्री ललित सिंह ग्राम ढोरजा, जिला चम्पावत; श्री देशराज ग्राम रानीमाजरा, जिला हरिद्वार; श्रीमती रेखा भण्डारी ग्राम जजुराली, जिला पिथौरागढ़; श्री दिनेश मोहन सिंह ग्राम चैण्डा, जिला चमोली; श्री कमलेश महतोलिया ग्राम पहाड़पानी, जिला नैनीताल; श्रीमती श्यामा देवी ग्राम फतेहपुर, जिला देहरादून; श्री भीम सिंह ग्राम टूनाकोट, जिला अल्मोड़ा; श्री बलराम सिंह ग्राम खैरना, जिला ऊधमसिंह नगर एवं श्री विजय सेमवाल, ग्राम वाणसू/पुनाड़, जिला रूद्रप्रयाग सम्मिलित थे।
– – – –
Distt Information Office
114- Collectrete, Rudrapur
US Nagar
Phone- 05944-250890, e-mail- diousnagar2013[at]gmail.com, diousnagar2016[at]gmail.com,