Recent UpdatesStop

read more

जन संवाद सेवा

Photo Gallery

WEB RATNA DISTRICT AWARD

view photo gallery

Hit Counter 0003786628 Since: 01-02-2011

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

News & Events

Print

राश्ट्रीय षैक्षिक अनुसंधान एवं प्रषिक्षण परिशद नई दिल्ली द्वारा प्रायोजित एवं जिला षिक्षा एवं प्रषिक्षण संस्थान उधमसिंह नगर के संयुक्त तत्वाधान में अगामी माह 13 नवम्बर को राश्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (एनएएस-2017) की सर्वेक्षण/परीक्षण तिथि निर्धारित की गई ह

Publish Date: 25-10-2017

रूद्रपुर 25 अक्टूवर-मानव संसाधन विकास मंत्रालय की महत्वपूर्ण योजना के अन्तर्गत राश्ट्रीय षैक्षिक अनुसंधान एवं प्रषिक्षण परिशद नई दिल्ली द्वारा प्रायोजित एवं जिला षिक्षा एवं प्रषिक्षण संस्थान उधमसिंह नगर के संयुक्त तत्वाधान में अगामी माह 13 नवम्बर को राश्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (एनएएस-2017) की सर्वेक्षण/परीक्षण तिथि निर्धारित की गई है,जिसके अन्तर्गत कक्षा 3,5 एवं 8 को प्रारम्भिक षिक्षा के प्रतिनिधि कक्षायें मानते हुये इन कक्षाओं में अध्ययनरत विद्यार्थियों का संप्राप्ति स्तर ज्ञात किया जायेगा। अधिकारियों द्वारा यह सर्वेक्षण राजकीय/राज्य सहायता प्राप्त जनपद के विद्यालयों में किया जायेगा। 

एनएएस कार्यक्रम के सफल संचालन के लिये अपर जिलाधिकारी जगदीष चन्द्र काण्डपाल को एनएएस का जिला नोडल अधिकारी जिलाधिकारी/एनएएस के संरक्षक डाॅ0 नीरज खैरवाल द्वारा नामित किया गया है। कार्यक्रम के सफल संचालन के लिये देर सायं कलक्टेªट सभागार में एडीएम श्री काण्डपाल की अध्यक्षता में बैठक हुई। एडीएम ने इस बावत सभी उप जिलाधिकारियों,खण्ड विकास अधिकारियों एवं षिक्षा महकमे के अधिकारियों के साथ कार्यक्रम की व्यापक सफलता के लिये मंथन कर आवष्यक दिषा निर्देष दिये। उन्होने अधिकारियो को निर्देष दिये कि जो दायित्व उनको सौंपे गये उनका निर्वहन कुषलता पूर्वक करें। उन्होंने बताया कि 6 से 14 वर्श के बच्चों को गुणवत्तायुक्त षिक्षा प्रदान कराने कें लिये सरकार प्रतिबद्ध है । एडीएम ने बताया कि एनएएस के सर्वेक्षण हेतु विकासखण्डवार उप जिलाधिकारियों एवं खण्ड विकास अधिकारियों को प्रेक्षक तथा मुख्य षिक्षा अधिकारी को कार्यक्रम समन्वयक तथा डाइट के प्राचार्य एवं जिला षिक्षा अधिकारी(प्रा0षि0) को सह समन्वयक बनाय गया है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देष दिये कि परीक्षा सामग्री को पूर्ण गोपनीयता से संरक्षित किया जाय तथा एनएएस परीक्षा के बाद ओएमआर सीट व डाटा एमएचआरडी पोर्टल पर अपलोड होगा एवं अपलोडिग की व्यवस्था मुख्य षिक्षा अधिकारी के माध्यम से की जायेगी। उन्होंने बताया कि एक प्रेक्षक द्वारा न्यूनतम 04 विद्यालयों का अनुश्रवण किया जायेगा। जिन विद्यालयों का सर्वेक्षण किया जायेगा उन्हें दो दिन पूर्व सर्वेक्षण की सूचना दी जायेगी। 

डाइट के प्रवक्ता मनोज पाण्डे ने डाटा प्रजेन्टेषन के जरिये एनएएस कार्यक्रम की विस्तार से जानकारी दी। डाइट के प्राचार्य धरम सिंह रावत ने राश्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण -2017 की जानकारी देते हुये बताया कि कार्यक्रम की व्यापक सफलता के लिये जनपदीय समन्वयन समिति,विकास खण्ड स्तरीय समन्वयन समिति तथा जिला माॅनीटरिंग इकाई  बनाई गई है। जिसके लिये विभिन्न अधिकारियों को नामित किया गया है। उन्होंने बताया कि गुणवत्तायुक्त षिक्षा का एक सूचक यह भी हे कि छात्रों का संप्राप्ति स्तर वर्ग एवं समय के साथ दोनों अनुपात में वृृद्धि करना है । उन्होंने बताया कि एनएएस के तहत जिले के कुल 172 विद्यालयों का सर्वेक्षण किया जाना है जिसमें कक्षा 03 के 60,कक्षा 05 के 61 तथा कक्षा 08 के 51 स्कूल षामिल है। इन तीनों कक्षाओं मेें कुल 7688 छात्र है,जिनमें से 4079 छात्र सर्वेक्षण हेतु चयनित किये गये है । श्री रावत ने बताया कि कार्यक्रम के संचालन के लिये कुल 271 क्षेत्र अन्वेशक(एफआई) नामित किये गये है । जिनमें 28 एफआई आरक्षित रखे गये है। 

बैठक में जिला षिक्षा अधिकारी डाॅ0 पीएन सिंह,एसडीएम रोहित मीणा,विनीत तोमर,नरेष चन्द्र दुर्गापाल,विजयनाथ षुक्ल,विनोद कुमार,दयानंद सरस्वती,सीओ कमला विश्ट समेत विभिन्न विकास खण्डों खण्ड विकास अधिकारी एवं खण्ड षिक्षा अधिकारी आदि उपस्थित थें।