Recent UpdatesStop

read more

जन संवाद सेवा

Photo Gallery

WEB RATNA DISTRICT AWARD

view photo gallery

Hit Counter 0003785428 Since: 01-02-2011

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

News & Events

Print

अन्तर्राश्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस के अवसर पर षासन के निर्देष पर आज पूरे प्रदेष में काल्पनिक भूकम्प का अभ्यास किया गया।

Publish Date: 16-10-2017

रूद्र्रपुर 13 अक्टूवर-अन्तर्राश्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस के अवसर पर षासन के निर्देष पर आज पूरे प्रदेष में काल्पनिक भूकम्प का अभ्यास किया गया। प्रात 8 बजे भूकम्प आने पर साइरन बजाया गया । जिसके तत्काल बाद आईआरएस सिस्टम से जुडे अधिकारी (ईओसी) इमरजेन्सी आपरेषन सेंटर कलकटेªट स्थित एपीजे अब्दुल कलाम सभागार में पहुंचे। जिसमें रिसपान्सविल आफीसर सीडीओ आलोक कुमार पाण्डेय,इन्सीडेंट आफीसर अपर जिलाधिकारी प्रताप सिंह षाह तथा सेफ्टी आफीसर एएसपी कमलेष उपाध्याय मौजूद थे।  08 बजे हूटर बजाकर आईआरएस से जुडे अधिकारियों को सूचित किया गया। रेक्टर पैमाने पर 7.3 परिमाप पर चमोली में भूकम्प आने की सूचना प्रसारित की गई। रूद्रपुर में काल्पनिक भूकम्प के माॅक अभ्यास के लिये ट्रांिजट कैम्प,अंगदेव काम्प्लैक्स विषाल मेगामार्ट एवं नेस्ले कम्पन्नी को चयनित किया गया। उधर खटीमा एवं सितारगंज में भी माॅक ड्रिल किया गया। भूकम्प में तत्काल राहत व वचाव कार्य प्रारम्भ किये जाने के लिये अधिकारियों की तीन टीमे बनाकर भूकम्प प्रभावित इलाकों में भेजा गया। पहली टीम में तहसीलदार रूद्रपुर अमिता षर्मा अपने दल बल के साथ ट्रांिजट कैम्प क्षेत्र पहुंची तथा सर्च अभियान षुरू किया । उन्होंने बताया कि काल्पनिक भूकम्प में 10625 लोग घायल हुये,215 आंषिक घायल तथा 4410 गंभीर घायल हुये मामूली रूप से घायल लोगों का उपचार किया गया तथा गंभीर घायलों को एम्बुलैस आदि के जरिये चिकित्सालयों में भेजा गया। उन्होंने बताया सामुदाकि स्वास्थ्य केन्द्र व निजी अस्पतालों व पुलिस ने अपना पर्याप्त सहयोग दिया। उन्होंने लाइट वाली हैलमेट,सर्च लाइट एवं रस्सी आदि की आवष्यकता बताई। टास्क फोर्स टीम नं0-2 में चकबन्दी अधिकारी सुभाश गुप्ता अंगद देव काम्प्लैक्स विषाल मेगामाल्र्ट पहुचे उन्होंने स्थिति का जायजा लिया तथा मानव श्रृृखला बनाकर बचाव कार्य षुरू किये भूकम्प से 350 लोग घायल मिले तथा 50 गंभीर घायलों को ईलाज हेतु जिला चिकित्सालय भेजा गया। उधर नेस्ले की टास्क फोर्स टीम में वन क्षेत्राधिकारी हरीष आर्य अपने टीम के साथ क्षेत्र में पहुंचे साइरन बजाकर लोगों को बाहर निकाला गया 18 लोग धायल मिले दो भवन भी आंषिक रूप से क्षतिग्रस्त पाये गये। उन्होंने बताय कि वास्तविक रूप से आपदा आने पर बवाच उपकरण व अन्य संषाधनों को पर्याप्त व्यवस्था किया जाना जरूरी होगा। 

मुख्य विकास अधिकारी आलोक कुमार पाण्डेय अधिकारियों से कहा कि भूकम्प के प्रति किये गये माॅक ड्रिल को हल्के से नही लें । उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजनों में अपनी कमियों व त्रुटियों को सुधारने की सीख मिलती है । उनहोंने कहा कि वास्तविक आपदा आने पर  हम सबको ठोस रणनीति तैयार करनी होगी ताकि आपदा के दौरान जानमाल की क्षति को रोका जा सके। अपर जिलाधिकारी प्रताप सिंह षाह ने अधिकारियों को निर्देष दिये आपदा हेतु किये गये माॅक ड्रिल में अनुभव किये तथ्यों से सीख लेकर आपदा के दौरान ठीक तरीके से कार्य करने का संकल्प लेना होगा। 12 मद्रास बटालियन रानीखेत से आये मेजर राहुल धामा ने आपदा के प्रतिअपने सुझाव दिये । 

इस अवसर पर एसडीएम रोहित मीणा व नरेष चन्द्र दुर्गापाल,एएसपी कमलेष उपाध्याय,पीडी हिमांषु जोषी,डीडीओ अजय सिंह,नगर आयुक्त जय भारत सिंह,एसएलएओ एनएस नबियाल,एसीएमओ मनीश श्रीवास्तव समेत,एसएसबी व सेना के अधिकारियो सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।