Recent UpdatesStop

read more

जन संवाद सेवा

Photo Gallery

WEB RATNA DISTRICT AWARD

view photo gallery

Hit Counter 0003500611 Since: 01-02-2011

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

News & Events

Print

क्षेत्रीय विधायक राजकुमार ठुकराल की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में ’’हिमालय दिवस’’ के अवसर पर पलायन,आजीविका व आपदा पर एक संगोष्ठि का आयोजन किया गया।

Publish Date: 11-09-2017

रूद्रपुर 09 सितम्बर- क्षेत्रीय विधायक राजकुमार ठुकराल की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में ’’हिमालय दिवस’’ के अवसर पर पलायन,आजीविका व आपदा पर एक संगोष्ठि का आयोजन किया गया। श्री ठुकराल ने कहा हमारे जनपद का विकास कैसे हो व पर व्यक्ति आय कैसे बढे इसके लिये हमे चिंतन करना होगा। उन्होने कहा सबकी सहभागिता से हम इसे आगे ले जा सकते है। उन्होने कहा जब देश की अर्थ व्यवस्था ठीक रहेगी तभी प्रदेश भी मजबूत होगें। उन्होने कहा हमे स्वदेशी सामान को अपनाते हुये विदेशी सामान का बहिस्कार करना होगा ताकि हमारी अर्थ व्यवस्था ठीक रहे। उन्होने कहा देश हम सबसे उंचा है हमें अपने निजि स्वार्थो को छोडकर देश हित में काम करने होगें। उन्होने कहा ऐसी गोष्ठियों में हर व्यक्ति को अपनी बात रखनी चाहिये ताकि अच्छे विचारों को विकास की कार्य योजना में रखा जा सकें। 

      इस अवसर पर जिलाधिकारी डा0 नीरज खैरवाल ने कहा हमारे देश व समाज के प्रति जो दायित्व बनते है हमें उन दायित्वों का निर्वहन निस्वार्थ रूप से करना होगा। उन्होने कहा अधिकारियों व कर्मचारियों को अपनी ड्यूटी 10 बजे से 05 बजे तक करने के साथ-साथ समाज हित में कार्य करने होगें। उन्होने कहा जो अधिकारी या कर्मचारी गलत कार्य करता है उसका प्रभाव उसके परिवार पर भी पडता है। उन्होने कहा कृषि के साथ-साथ कृषकों की आय बढाने के लिये उद्यान, पशुपालन, मुर्गी पालन, मत्स्य पालन, रेशम, उद्योग व अन्य विभाग के अधिकारियों को तालमेल बनाकर इस क्षेत्र में कार्य करते हुये कृषकों को मजबूत करना होगा। उन्होने कहा कृषि क्षेत्र में उन्नति के लिये किसानो को भी एक होना होगा ताकि नई वैज्ञानिक विधि से कृषि का कार्य कर आय बढाई जा सकें। 

        इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आलोक कुमार पाण्डेय ने कहा इस विचार मंथन से जो भी सकारात्मक चीजे निकलकर आयेगीं उसे हम अपनी कार्य योजना में शामिल करेगें। उन्होने कहा कृषि विभाग पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है ताकि किसानों की आय वर्ष 2022 तक दोगुनी की जा सकंे। उन्होने कहा किसानों को गेहूं और चावल के साथ-साथ तिलहन, दलहन व सब्जी का उत्पादन भी बढाना होगा,इसके साथ-साथ कृषकों को उद्यान, डेरी, पशुपालन आदि पर भी ध्यान देना होगा। उन्होने कहा गन्ना किसानों की आय बढाने के लिये इस वर्ष मनरेगा से 03 करोड का प्रोजेक्ट बनाया है। टंच विधि से गन्ने की खेती करने पर हर किसान को 01 हैक्टेयर भूमि पर 10 हजार रूपये का लाभ दिया जायेगा। कार्यशाला मे उन्नतशील किसान ठाकुर जगदीश सिंह द्वारा कीटनाशक व रसायनो का प्रयोग कम करने की बात कही गई। उन्होने कहा गन्ना किसान गन्ने के साथ-साथ आमदनी बढाने के लिए सहफसलो का भी उत्पादन करे। कृषक गिरीश चन्द्र उपाध्याय ने कहा पहाडो से पलायन रोकने केे लिए पाॅली हाउस एक कारगर साधन है, इसमे कृषक बेमौसमी शब्जी उत्पादन कर अपनी आय बढा सकते है। उन्होने कहा कृषक पशुपालन को बढावा दे, जहां उन्हे एक ओर दुग्ध उत्पादन से धनराशि प्राप्त होगी वही जानवरो के गोबर से कम्पोस्ट खाद बनाई जा सकती है। पंतनगर के वैज्ञानिक सी तिवारी ने कहा कृषक फास्फोरस व पोटास का बीज बोने से पहले खेतो मे प्रयोग करे व खेतो की जुताई 15 सेमी तक अवश्य करे। उन्होने कहा हमे जमीन के स्वास्थ की चिंता करनी होगी ताकि जमीन स्वस्थ रहकर हमे अच्छा उत्पादन दे सके। संगोष्ठी मे डा0 अशोक कुमार, डा0 बृजेश गुप्त, सुमित लखोटिया कृषक द्वारा अपने विचार रखे गये साथ ही पशुपालन, मनरेगा व आपदा से सम्बन्धित जानकारियां पाॅवर प्रजेंटशन के माध्यम से की गई। बैठक मे एडीएम प्रताप सिंह शाह, जगदीश चन्द्र काण्डपाल, डीडीओ अजय सिंह, एसडीएम रोहित मीडा, मुख्य कृषि अधिकारी अभय सक्सेना सहित अनेक अधिकारी व कृषक उपस्थित थे।