Recent UpdatesStop

read more

जन संवाद सेवा

Photo Gallery

WEB RATNA DISTRICT AWARD

view photo gallery

Hit Counter 0003200630 Since: 01-02-2011

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

News & Events

Print

जिलाधिकारी डा0 नीरज खैरवाल की अध्यक्षता मे वन अधिकार अधिनियम 2006 एवं 2008 के अन्तर्गत विकास खण्ड खटीमा के 2422 सामूहिक एवं 03 व्यक्तिगत दावों तथा विकास खण्ड सितारगंज के 30 सामूहिक दावों के निस्तारण हेतु बैठक आयोजित की गई।

Publish Date: 30-08-2017

रूद्रपुर 30 अगस्त - जिलाधिकारी डा0 नीरज खैरवाल की अध्यक्षता मे वन अधिकार अधिनियम 2006 एवं 2008 के अन्तर्गत विकास खण्ड खटीमा के 2422 सामूहिक एवं 03 व्यक्तिगत दावों तथा विकास खण्ड सितारगंज के 30 सामूहिक दावों के निस्तारण हेतु बैठक आयोजित की गई। जिलाधिकारी ने निर्देश देते हुए कहा जो भी दावें निस्तारण हेतु आये है, उनमे वन अधिकार अधिनियम के प्राविधानो के अनुसार कार्य किया जायेगा। उन्होने कहा जो थारू व बुक्सा जनजाति के लोग अपनी आजीविका बांस, झाड, झंकाड, ढूड, बेत, तुषार, कोया, शहद, मोम, लाख, तेदू व केदू के पत्तो से चलाते है व साथ ही 13 दिसम्बर, 2005 से पूर्व कम से कम 03 पीढियो तक प्राथमिक रूप से वन भूमि या वन मे निवास करता रहा है, उन्हंे वन अधिनियम का लाभ दिया जायेगा। उन्होने कहा वन अधिकार के धारको को वन्य जीव, वन और जैव विविधता का संरक्षण करना होगा। जिलाधिकारी ने कहा वन अधिनियम के अन्तर्गत जिन्होने चुगान व शाॅल के सूखे पेड मांगने हेतु दावे पेश किये है वह निरस्त किये जाते है। उन्होने कहा वन अधिनियम के अन्तर्गत जिन्होने चुगान व शाॅल के सूखे पेड देने का प्राविधान नही है। बैठक मे सर्वसम्मति से खटीमा के 03 व्यक्तिगत दावों को निरस्त किया गया। जिलाधिकारी ने कहा जो सामूहिक दावे आये है ग्राम स्तरीय समिति व ब्लाक स्तरीय समिति 15 दिन अन्दर उनका विस्तृत अध्ययन कर उनमे सभी साक्ष्य प्रस्तुत करे ताकि सामूहिक दावो का निस्तारण शीघ्र किया जा सके। 

प्रभागीय वनाधिकारी नितीशमणि त्रिपाठी ने कहा पहले हक-हकूक के अन्तर्गत प्रत्येक गांव को जो जलौनी लकडी उपलब्ध कराई जाती थी ग्राम समिति उसका भी ब्यौरा उपलब्ध करायेंगे। उन्होने कहा ग्राम स्तर की कमेटी को मैप बनाकर देना होगा, उन्हे किस वन क्षेत्र से हक-हकूक की लकडी चाहिए। 

        बैठक मे मुख्य विकास अधिकारी आलोक कुमार पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी जगदीश चन्द्र काण्डपाल, जिला समाज कल्याण अधिकारी पीसी जोशी, उपजिलाधिकारी सितारगंज विनोद कुमार, एसडीओ बाबूलाल व प्रकाश चन्द्र आर्य, समिति के सदस्य पूनम राणा, रविन्द्र सिंह राणा, राकेश सिंह राणा, कु0 शिवरात्रि सहित अन्य लोग उपस्थित थे।