Recent UpdatesStop

read more

जन संवाद सेवा

Photo Gallery

WEB RATNA DISTRICT AWARD

view photo gallery

Hit Counter 0002963328 Since: 01-02-2011

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

News & Events

Print

सरकारी हाईस्कूल एवं इण्टर मीडिएट विद्यालयों की व्यवस्थाओं में सुधार

Publish Date: 08-05-2017

High-School-Intermediate
रुद्रपुर 06 मई - जनपद में स्थापित सरकारी हाईस्कूल एवं इण्टर मीडिएट विद्यालयों की व्यवस्थाओं में सुधार के मद्देनजर जिलाधिकारी डाॅ0 नीरज खैरवाल ने षिक्षा अधिकारियों एवं हाईस्कूल वं इण्टर मीडिएट विद्यालयों के प्रधानाचार्याें के साथ कलक्ट्रेट सभागार में बैठक कर आवष्यक दिषा निर्देष दिये। समय पाबन्दी का पाठ पढाते हुए जिलाधिकारी ने प्रधानाचार्याें को निर्देष दिये कि वे यह सुनिष्चत कर लें कि प्रत्येक विद्यालय में अध्यापको की हाजिरी दर्ज किये जाने हेतु बायोमेट्रिक मषीन अनिवार्य रुप से लग जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि किसी विद्यालय में बायोमेट्रिक मषीन खराब हो जाती है तो उसकी सूचना तुरन्त ही जिला षिक्षा कार्यालय को उपलब्ध कराते हुए बायोमेट्रिक मषीन को षीघ्र दुरुस्त किये जाने हेतु प्रबन्ध किये जायें। साथ ही उन्होंने कहा कि बायोमेट्रिक मषीन में दर्ज अध्यापकों की हाजिरी का मासिक विवरण भी हर माह जिला षिक्षा कार्यालय को उपलब्ध कराया जाय। उन्होने कहा कि विद्यालयों के निरीक्षण के दौरान मुझे यह देखने को न मिले कि किसी विद्यालय में बायोमेट्रिक मषीन नहीं है। उन्होंने निर्देष दिये कि विद्यालयों में विद्यार्थियों के हित में संचालित योजनाओं का क्रियान्वयन पारदर्षिता के साथ किया जाय। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि योजनाओं के क्रियान्वयन में भ्रश्टाचार की षिकायत मिली तो सम्बधित के विरुद्ध सख्त कार्यवाही होगी। जिलाधिकारी ने कहा कि ऐसी षिकायते सुनने को मिल रही हैं कि सरकारी विद्यालयों के प्रधानाचार्याें द्वारा ही विद्यालयों की भूमि पर अतिक्रमण करवाया जा रहा है। उन्होंने हिदायत दी कि विद्यालयों की भूमि पर अतिक्रमण करवाये जाने सम्बन्धी षिकायते आइन्दा सुनने को नहीं मिलनी चाहिए। उन्होंने प्रधानाचार्याें को निर्देष दिये कि वे अपने से सम्बधित विद्यालय की भूमि, विद्यालयों में निर्मित कक्षों, षौचालयों, बाउण्ड्रीवाल, फर्नीचर, विद्युत व पेयजल व्यवस्थाओं, विद्यालयों में अध्यापकों की कुल संख्या व उनके मोबाईल नम्बर एवं कुल विद्यार्थियों की संख्या का फोटो युक्त विवरण बनाकर मुख्य षिक्षा अधिकारी सहित सम्बन्धित क्षेत्र के तहसीलदारों एवं खण्ड विकास अधिकारियों को भी उपलब्ध करायें। साथ ही उन्होंने कहा कि विद्यालयों में और कितने कक्षों की आवष्यकता है, और कितने अध्यापकोें की आवष्यकता है व किस प्रकार के कितने फर्नीचर की आवष्यकता है यह विवरण भी उपलब्ध कराया जाय। जिलाधिकारी ने जिला षिक्षा अधिकारी को निर्देष दिये कि विद्यालयों हेतु विभिन्न मदों में दी जाने वाली धनराषि का विवरण भी मदवार उपलब्ध कराया जाय ताकि यह पता चल सके कि विद्यालय हेतु किस मद में कितनी धनराषि उपलबध करायी जा रही है। जिलाधिकारी ने षिक्षा अधिकारियो को निर्देष दिये कि विद्यालयों से मांगा गया विवरण निर्धारित समयावधि के भीतर ही एकत्रित कर लिया जाय ताकि विवरण ससमय षासन को प्रेशित किया जा सके। 
    बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आलोक कुमार पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी प्रताप सिंह षाह, मुख्य षिक्षा अधिकारी पीएन सिंह, जिला षिक्षा अधिकारी सुभागा आर्या व डीसी सती सहित खण्ड षिक्षा अधिकारी व प्रधानाचार्य उपस्थित थे। 
- - -
जिला सूचना अधिकारी,उधमसिंह नगर।

Distt Information Office
114- Collectrete, Rudrapur
US Nagar
Phone- 05944-250890, e-mail- diousnagar2013@gmail.com