Recent UpdatesStop

read more

जन संवाद सेवा

Photo Gallery

WEB RATNA DISTRICT AWARD

view photo gallery

Hit Counter 0002959977 Since: 01-02-2011

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

News & Events

Print

जिलाधिकारी डाॅ0 नीरज खैरवाल ने कलक्ट्रेट सभागार में लीड बैंक अधिकारी, नाबार्ड, कृशि एवं उद्यान विभाग के अधिकारियों के साथ किसानों द्वारा बैंकों से लिये जाने वाले फसल ़ऋण की सीमा निर्धारण के सम्बन्ध में बैठक कर अधिकारियों को आवष्यक दिषा निर्देष दिये।

Publish Date: 29-04-2017

रुद्रपुर 29 अप्रेल - जिलाधिकारी डाॅ0 नीरज खैरवाल ने कलक्ट्रेट सभागार में लीड बैंक अधिकारी, नाबार्ड, कृशि एवं उद्यान विभाग के अधिकारियों के साथ किसानों द्वारा बैंकों से लिये जाने वाले फसल ़ऋण की सीमा निर्धारण के सम्बन्ध में बैठक कर अधिकारियों को आवष्यक दिषा निर्देष दिये। जिलाधिकारी ने लीड बैंक अधिकारी को निर्देष दिये कि गत वर्श सालभर में कृशि ऋण पर बैंकों द्वारा क्या ब्याज प्राप्त किया गया और इसके प्रतिपक्ष में किसानों को कितना ब्याज इन्सेंटिव दिया गया है इसकी विस्तृत रिपोर्ट बनाकर प्रस्तुत की जाय। उन्होंने अधिकारियों को निर्देष दिये कि कृशि योजनाओं का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाय ताकि किसानों को यह जानकारी मिल सके कि सरकार द्वारा कृशि विकास के लिए कौन-कौन सी योजनाएं चलायी जा रही है। उन्होंने कहा कि बैंकों द्वारा किसानों को ऋण ब्याज जमा करने की निर्धारित समय सीमाओं के बारे भी जानकारी उपलब्ध करायी जाय ताकि किसान ब्याज का लाभ प्राप्त कर सकें। जिलाधिकारी ने निर्देष कि दिये कि विभिन्न कृशि योजनाओं के अन्तर्गत ऋण आवंटन सम्बन्धी कार्य पारदर्षिता के साथ सम्पन्न किये जायें। उन्होंने चेतावनी दी कि सब्सिडी प्रदान करने में दलाली न की जाय। जनता का पैसा जनता को ही मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि किसी अधिकारी/कर्मचारी के विरुद्ध यह षिकायत मिली कि वह रिष्वत लेकर खास व्यक्तियों को ही योजनाओं का लाभ दे रहा है तो सम्बन्धित के विरुद्ध सख्त कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। उन्होंने कहा कि योजनाओं का लाभ पात्र लोगों को ही दिया जाय। जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को फसल ऋण सम्बन्धी विभिन्न योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट तैयार करने के निर्देष देते हुए षीघ्र ही पुनः बैठक आयोजित करने के लिए कहा। उन्होंने निर्देष दिये कि आगामी बैठक में किसानों को भी बुलाया जाय ताकि वे फसल ऋण सीमा निर्धारण के सम्बन्ध में अपना पक्ष रख सके।

   बैठक में लीड बैंक अधिकारी मधुसूदन सुमन, मुख्य कृशि अधिकारी पीके सिंह, नाबार्ड से विषाल षर्मा, जिला उद्यान अधिकारी रतन सिंह आदि उपस्थित थे।