Recent UpdatesStop

read more

जन संवाद सेवा

Photo Gallery

WEB RATNA DISTRICT AWARD

view photo gallery

Hit Counter 0003626387 Since: 01-02-2011

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

Recent Update

Print

30-11-2017

Under Section/Module : News

सभी उप जिलाधिकारी,परिवहन ,लोनिवि एवं एनएचएआई के अधिकारी आपसी समन्वय बनाकर आये दिन वाहन दुर्घटनाओं से हो रही मौतों को रोकने के लिये ठोस रणनीति बनाकर कार्य करें

Publish Date: 30-11-2017

 

रूद्रपुर 30 नवम्बर-  सभी उप जिलाधिकारी,परिवहन ,लोनिवि एवं एनएचएआई के अधिकारी आपसी समन्वय बनाकर आये दिन वाहन दुर्घटनाओं से हो रही मौतों को रोकने के लिये ठोस रणनीति बनाकर कार्य करें इसके लिये वाहन चालकों को प्रषिक्षित करने के साथ ही टेªफिक के नियमों का कडाई से अनुपालन सुनिष्चित कराया जाय। 
    जिलाधिकारी डाॅ0 नीरज खैरवाल आज कलक्टेªट सभागार में परिवहन विभाग के तत्वाधान में आयोजित जिला स्तरीय सडक सुरक्षा समिति की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होने उप जिलाधिकारियों को निर्देष दिये कि जीरो टोलरेंस पर आगामी 01 जनवरी से अभियान चलाकर यह सुनिष्चित करेंगे कि कोई भी दुपहिया वाहन बिना हैलमेट के नही चलाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि बिना हैलमेट वालों को ईधन भी उपलब्ध न कराया जाय। उन्होंने एसडीएम को निर्देष दिये कि दुर्घटनाओं को रोकने के लिये एक मुहिम चलायें तथा लोगों को जागरूक भी करें। उन्होंने पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देष दिये कि पुलिस चैक पोस्टों के सामने से कोई भी दुपहिया वाहन बिना हैलमेट चलाते हुये पाये जाय तो उस पर कार्यवाही सुनिष्चित की जाया। डीएम ने लोनिवि एवं एनएचएआई के अधिकारियों को निर्देष दिये कि व आपसी समन्वय बनाकर दुर्घटना सम्भावित क्षेत्रों में साइनेज,स्पीड ब्रेकर एवं चेतावनी बोर्ड लगाये जाय साथ ही वाहनो पर पीछे से रेडियम लाईट भी लगायी जाय। उन्होंने लोनिवि के अधिकारियों को निर्देष दिये कि काषीपुर रोड में मोहतोश मोड पर जो कट बना है उसका परीक्षण कर लिया जाय तथा गलत साइट से वाहन चलाने वालो पर कार्यवाही की जाय। उन्होंने कहा कि अधिकांष दुर्घटनायें बडे वाहनों के गलत दिषा से वाहन चलाने से होती है। उन्होंने उप जिलाधिकारियेां को निर्देष दिये कि वाहनों द्वारा जो दुर्घटनायें होती है उनकी जांच भी अनिवार्य रूप से की जाय। 
    डीएम ने परिवहन महकमे के अधिकारियों को निर्देष दिये कि वह वाहन लाईसेंस बनाने के लिये ठोस कार्य योजना बनाये तथा पूरी जांच पडताल के बाद लोगों को लाईसेंस जारी किये जाय। किसी भी दषा में अकुषल व अवयस्क व्यक्ति को वाहन लाईसेन्स जारी न किया जाय। उन्होंने निर्देष दिये कि सरकारी महकमेां के वाहन चालकों को प्रेक्टिल रूप से सरल भाशा में वास्तविक रूप से प्रषिक्षण दिया जाय। 
    एसएसपी डाॅ0 सदानंद दाते ने अधिकारियों को निर्देष दिये कि बढती सडक दुर्घटनायें चिंता का विशय है लिहाजा बढती सडक दुर्घटनाओं को रोकने के लिये गंभीरता से कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि सभी सम्बन्धित अधिकारी पुलिस के साथ समन्वय बनाकर सडक दुर्घटनाओं पर रोक लगाने का कार्य करें। 
      बैठक मंे एडीएम प्रताप सिंह षाह,संयुक्त मजिस्टेªट रोहित मीणा व विनीत तोमर एसडीएम पूरन सिंह राणा,विजयनाथ षुक्ल,विनोद कुमार,दयानंद सरस्वती,एआरटीओ नन्द किषोर,रामप्रकाष राठौर,अनिता चन्द्र,ईई लोनिवि एमआर आर्य,जेसी पन्तोला,विनोद कुमार,आरएएफ के सुभाश कुमारस समेत नगर निगम,नगर पालिका आदि विभागो के अधिकारी उपस्थित थे।