Recent UpdatesStop

read more

जन संवाद सेवा

Photo Gallery

WEB RATNA DISTRICT AWARD

view photo gallery

Hit Counter 0003503710 Since: 01-02-2011

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

Recent Update

Print

14-11-2017

Under Section/Module : News

वर्श 2022 तक किसानों की आय दोगुनी किये जाने के लिये आज कलक्टेªट सभागार में जिलाधिकारी डाॅ0 नीरज खैरवाल ने कृृशि विभाग समेत किसाना हितों से जुडे रेखीय विभागों के अधिकारियों के साथ गंभीरता से मंथन किया।

Publish Date: 14-11-2017

रूद्रपुर 13 नवम्बर- वर्श 2022 तक किसानों की आय दोगुनी किये जाने के लिये आज कलक्टेªट सभागार में जिलाधिकारी डाॅ0 नीरज खैरवाल ने कृृशि विभाग समेत किसाना हितों से जुडे रेखीय विभागों के अधिकारियों के साथ गंभीरता से मंथन किया। जिलाधिकारी ने किसान हितों से जुडे अधिकारियों को निर्देष दिये कि वह फील्ड स्टाफ की एक पायलट टीम गठित करें जिसमें कृशि वैज्ञानिकों के साथ ही अन्य सम्बन्धित विभागों के कार्मिक भी षामिल हो यह टीम ब्लाकवार विभिन्न क्षेत्रों में जाकर किसानों को उनकी आय बढाने हेतु कृशि योजनाओं की जानकारी देंगे तथा विभागीय अधिकरियों द्वारा उस टीम के कार्यो का अनुश्रवण कर उपलब्धि से अवगत कराया जायेगा। जिलाधिकारी ने डाटा प्रेजेन्टषन के जरिये विभिन्न विभागों की द्वारा दर्षाये गये आंकडों की प्रगति को देखा। उन्होने अधिकारियो को निर्देष दिये कि आकडो में वास्तविक उपलब्धि ही दर्षायी जाय। उन्होंने कृशि व उद्यान विभाग की समीक्षा करते हुये कहा कि फ्लोरीकल्चर को बढावा देने से किसानों की आय में बृद्धि की जा सकती है लिहाजा अधिकारी इस और ठोस प्रयास करें। उन्होंने डेयरी विभाग के अधिकाारियों को निर्देष दिये समितियों की संख्या के साथ ही उनमें सदस्य संख्या भी बढाने के प्रयास किये जाय तथा किसान हित के कार्यो में तेजी लाने पर जोर दिया। डीएम ने रेषम विभाग के अधिकारी को निर्देष दिये रेषम किसान की आय बृृद्धि का अच्छा श्रोत है इसलिये रेषम उत्पादन का लक्ष्य एक हजार परिवार से बढाकर से 5 हजार परिवार किया जाय तथा प्लान्टेषन का लक्ष एक लाख से बढाकर 10 लाख पौध रोपड किया जाय। उन्होंने गन्ना विभाग के अधिकारी को निर्देष दिये कि वह गन्ना विकास की तीन साल की कार्ययोजना तैयार करें। 

जिलाधिकारी ने किसानों से आग्रह किया कि वह अपनी आय बढाने के लिये निर्धारित फसल चक्र को अपनायें तथा फसलों के साथ ही सब्जियों,फलों,दुग्ध उत्पादन,मत्स्य पालन,पशुपालन,मुर्गी पालन को वेहतर तरीके से अपनायें। सीडीओ आलोक कुमार पाण्डेय ने अधिकारियो को निर्देष दिये कि वह किसानो की आय दोगुनी करने के लिये प्रगतिकारक विषेश योजना तैयार करें। उन्होने किसानो से आग्रह किया कि वह अपनी आय में इजाफा करने के लिये सब्जी हाॅट बाजार विकसित करें इसके साथ ही सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं को कृशि वैज्ञानिको की सलाह से उचित फसलचक्र को अपनाये। उन्होने अधिकारियों को निर्देष दिये कि मृदा परीक्षण हेतु बनाये गये लैब का समय-समय पर किसानो को भ्रमण करवाया जाय। 

     मुख्य कृशि अधिकारी डा0 अभय सक्सेना ने किसान हितो हेतु संचालित योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी। उन्होने बताया कि विकास खण्डवार किसानो को योजनाओ की जानकारी देने के लिये 54 कलस्टर बनाये गये है। उन्होने किसानो से कहा कि अच्छी उपज लेने के लिये मृदा परीक्षण अवष्य कराये। उन्होने बताया वर्श 2018 तक हर किसान को मृदा स्वास्थ्य कार्ड उपलब्ध कराकर उसे आधार कार्ड से लिंक कराया जायेगा। उन्होने उर्वरकों,दलहन फसलों,कीट व खरपतवारनाषी दवाओं के प्रयोग  एवं फसल विपणन सहित अन्य मुख्य  जानकारिया दी। विकास खण्ड खटीमा के ग्राम कंचनपुरी ग्राम के प्रगतिषील किसान बरीयाम सिंह ने कम लागत से कम समय में अधिक आय कृशि से हासिल किये गये अनुभवों को साझा किया।  

      बैठक में सीडीओ आलोक कुमार पाण्डेय,पीडी हिमांषु जोषी,कृशि वैज्ञानिक सी तिवारी,मुख्य उद्यान अधिकारी रामेष्वर सिंह,सहायक निदेषक मत्स्य हेम चन्द,जीएम डीआइसी चंचल सिंह,सहायक आयुक्त गन्ना धरमवीर सिंह,सीबीओ जीएस धामी,एडी डेरी बृजेष सिंह,सहित अन्य अधिकारी तथा विभिन्न क्षेत्रों से आये हुये प्रगतिषील किसान मौजूद थे।